घाघ कोयला माफिया दबाव का अपना रहे नया तरीका

शेयर करें

हज़ारीबाग में कोयला माफियाओं ने थाना पर दबाव बनाने के लिए नया पैंतरा ईजाद कर लिया है लॉक डाउन में अवैध कोयले के कारोबारियों ने ज़िलें के वैसे थाने को टारगेट करना शुरू किया है जहां से कोयले की तस्करी अधिक होती है ।हाल के दिनों में कुछ थानों में कोयला माफियाओं पर पुलिस का दवाब बढ़ा है और छापेमारी तेज हुई है कुछ थानों में मामले भी दर्ज होने शुरू हुए हैं जो पहले या तो होते ही नहीं थे या नगण्य थे ।अब चूंकि थाने एक्टिव हुए हैं और दबिश बढ़ी है तो कोयला तस्करों ने एक नई तरकीब निकाली है चूंकि ज़िलें में नए पुलिस कप्तान आये हैं और तेज़ तर्रार होने के साथ ही त्वरित करवाई करने के लिए जाने जाते हैं ऐसे में अब तस्कर ऐसे थाने को टारगेट कर रहे हैं और किसी पुराने मामले या झूठे मामले की शिकायत ज़िलें के वरीय पुलिस पदाधिकारी से कर रहे हैं व्हाट्सएप पर इन पदाधिकारियों के पास तस्वीर भेजी जा रही है ताकि संबंधित थाने के थानेदार या तो बदल दिए जाएं या फिर उनपर दबाव रहे।सर्वाधिक परेशानी चरही,मुफस्सिल,बड़कागांव,चुरचू और केरेडारी थाने को है इनमें से कुछ थाने के थानेदार इस बात से परेशान हैं कि आखिर किया क्या जाय एक तरफ साहेब का दबाव है अवैध कोयले पर लगाम लगे वहीं माफिया नए तरीके से दबाव की राजनीति कर रहे हैं ।ऐसे में जो थानेदार अच्छा कार्य कर रहे हैं वो डरे हुए हैं कहीं ये चक्रव्यूह में उनकी थानेदारी ना चली जाए।