तकनिकी विभाग के अभियंताओं के साथ उपायुक्त की समीक्षा बैठक

शेयर करें

हजारीबाग - - योजनाओं की भौतिक प्रगति की हुई समीक्षा,लगी फटकार, दिये कई निर्देश - गुणवत्ता के साथ समय पर कार्य पूर्ण के लिए अभियंता करें कार्य स्थल का दौरा: उपायुक्त सूचना भवन सभागार में शुक्रवार को तकनिकी विभागों के अभियंताओं के साथ उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद ने समीक्षा बैठक की। बैठक में विकास योजनाओं से संबंधित कार्यों की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने सभी तकनिकी विभागोें को योजना की गुणवत्ता के साथ समय पर योजना पूर्ण करने पर बल दिया। साथ ही कहा कि तकनिकी कारणों अथवा किसी अन्य कारण से योजना पूर्ण नहीं होने की स्थिति में योजना को बंद करते हुए राशि को सरेंडर करें। समीक्षा के क्रम में कई योजनाओं की भौतिक प्रगति 80-90 प्रतिशत होने के बावजूद योजना पूरा नहीं होेने पर उपायुक्त ने कहा कि वित्त विभाग से राशि निकासी संबंधी रोक पर नियम को शिथिल किया गया है। अतएव योजनाओं को प्राथमिकता के आधार पर उपयोगिता समर्पित करते हुए योजनाओं को पूरा कर संबंधित विभाग को हैंडओवर करें। मौके पर पर्यटन से संबंधित योजनाओं की समीक्षा के क्रम में लगभग 2.5 करोड़ की राशि का अबतक उपयोग नहीं होेने पर नाराजगी जातते हुए उपायुक्त ने कहा कि इन योजनाओं से संबंधित तकनिकी कमियों को दूर करते हुए यथाशीघ्र कार्य प्रारम्भ करें। वहीं भवन प्रमण्डल तथा बिजली विभाग की समीक्षा के क्रम में नवनिर्मित समाहरणालय को जल्द पूरा करने का निर्देश कार्यपालक अभियंता को दिया। साथ ही नवनिर्मित समाहरणालय के प्रवेश द्वार पर बिजल के तार की शिफ्टिंग के संबंध में पूर्व में उपायुक्त द्वारा दिये गये निर्देश पर भवन तथा बिजली विभाग के अभियंताओं के तालमेल में अभाव के कारण अबतक शून्य प्रगति तथा कार्रवाई पर उपायुक्त ने दोनों को फटकार लगाते हुए कहा कि एक सप्ताह के अदंर आपसी समन्वय के साथ कार्य करते हुए बिजल के तार की शिफ्टिंग का कार्य पूरा करें। बैठक में बड़कागांव स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के मुख्य भवन का निर्माण कार्य मंे लेटलतिफी का कारण पूछते हुए उपायुक्त ने ग्रामीण विकास प्रमण्डल को संवदेक से कारणपृच्छ करते हुए निर्धारित समयसीमा के अंदर कार्य पूरा नहीं करने की स्थिति में प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश दिया। साथ ही उपायुक्त ने यह भी चेतावनी दी कि समय पर कार्यपूर्ण नहीं होने पर कार्यपालक अभियंता के विरूद्ध विभागीय कार्रवाई की जाएगी। मौके पर मौजूद अभियंताओं को उपायुक्त नेयह भी निर्देश दिया गया कि संवेदक द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यों का समय समय पर भौतिक जांच के लिए कार्य स्थल का दौरा कर गुणवत्ता, कार्यप्रगति तथा आ रही बाधाओं को दूर कर समय पर योजना पूर्ण कराना सुनिश्चित करायेंग्। मौके पर उन्होंने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत मरम्मत योग्य सड़कों से संबंधित आवंटन के लिए विभाग से पत्राचार करने का निर्देश दिया। साथ ही विधायक योजना, पीसीसी सड़क, पुल-पुलिया आदि की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने इन योजनाओं को ससमय पूर्ण करने निर्देश दिया। बैठक में उप विकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा, विभिन्न तकनिकी विभागों के अभियंता, कनीय अभियंता सहित कई अन्य मौजूद थे।