अवैध खनन व परिवहन पर रोकथाम के लिए जांच अभियान चलाए:- उपायुक्त

शेयर करें

हजारीबाग :- खनिजों के अवैध व्यवसाय व माफियाओं पर अंकुश के लिए कठोर कदम उठाए:- उपायुक्त उपायुक्त आदित्य कुमार आनंद की अध्यक्षता में खनन टॉस्क फ़ोर्स की बैठक हुई। सूचना भवन सभागार में आयोजित बैठक में कोयला, पत्थर व बालू खनन माफियाओं पर अंकुश लगाने से संबंधित विभिन्न विभागों के द्वारा किए गए कार्यों की समीक्षा की गई। समीक्षा के क्रम में उपायुक्त ने कहा अवैध खनन व उत्खनित सामग्रियों का निरंतर परिवहन की शिकायतें प्राप्त हो रही है। अवैध खनन रोकथाम के लिए संबंधित विभागों के द्वारा अब तक के प्रयास अपर्याप्त व नाकाफ़ी है साथ ही संबंधित विभाग में समन्वय का भी अभाव रहता है। उन्होंने कहा वन क्षेत्र व सरकारी भूमि पर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश के आलोक में कारवाई करते हुए लीज निर्गत पत्थर उत्खनन व क्रशर लाइसेंस रद्द करने की कारवाई करें। बन्द व सील किए गए खदानों की भी जाँच समय समय पर करें ताकि अवैध खनन रोका जा सके। खनन अधिकारि को खनन माफियाओं को नामज़द अभियुक्त बनाकर प्राथमिकी दर्ज करने का सख्त निदेश दिया। खनन माफियाओं पर अंकुश लगाने के लिए सटीक जानकारी प्राप्त कर रणनीति के तहत संबंधित विभागों से समन्वय बनाकर लगातार छापेमारी अभियान चलाने जुर्माना के साथ साथ प्राथमिकी दर्ज कर अवैध खनन रोकने को कहा। अपर समाहर्ता को छापेमारी में जब्त वाहनों सहित अन्य मामलों की समीक्षा करते हुए सभी नीलाम पत्र मामलों पर बकाया वसूली की कारवाई करने को कहा। कोयला खदान से बड़े पैमाने पर महानगरों में कोयला का अवैध कारोबार व कोयला माफियाओं पर अंकुश लगाने पर बल देते हुए उपायुक्त ने कोयला कंपनियों व संबंधित विभागों की विफलता का ज़िक्र करते हुए संबंधित अधिकारियों को अपनी अपनी जिम्मेदारियों को ठीक से निर्वहन करने की हिदायत दी। उन्होंने कहा खाना पूर्ति करने के बजाय ठोस कदम उठाए जाएं। बिना चालान कोयला का परिवहन, ओवरलोडिंग करते पाए जाने पर संबंधित कोयला कंपनी पर कारवाई की जाएगी। इस संबंध में खनन व परिवहन विभाग के अधिकारियों को निरंतर चेकिंग अभियान चलाने व संलिप्त वाहन को जब्त कर वाहन स्वामी सहित कंपनी पर नामज़द प्राथमिकी दर्ज कर कारवाई करने का निदेश दिया। बिहार चुनाव के मद्देनजर उत्पाद विभाग अवैध शराब के कारखाने, भट्ठी पर छापेमारी कर शराब माफियाओं पर कारवाई करने का निदेश उत्पाद अधीक्षक को दिया। ख़ासकर बिहार से सटे सीमा व राष्ट्रीय राजमार्गों पर निगरानी बढ़ाने के लिए भी पुलिस, उत्पाद, परिवहन अधिकारी को संयुक्त रूप से निदेशित किया। इस मौके पर आपर समहर्ता रंजीत कुमार सिंह, डीपीओ, डीएफओ, सदर एसडीओ,बरही एसडीओ, विद्युत कार्यपालक अभियंता तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थें।