ग्रामीणों के आर्थिक और पोषण जरुरतों को पूरा करेगा दीदी वाड़ी योजना: डीडीसी

शेयर करें

हजारीबाग - कटकमसांडी के असधीर ग्राम में दीदी बाड़ी योजना के अन्तर्गत ग्रामीणों ने उप विकास आयुक्त का स्वागत झारखण्ड के पारंपरिक नृत्य संगीत से किया। झारखंड के ग्रामीण क्षेत्रों से कुपोषण की समस्या को दूर करने के उद्देश्य से दीदी वाड़ी योजना पर कार्य प्रारंभ किया गया है। मनरेगा और राज्य आजीविका मिशन के सहयोग से संचालित इस योजना से ग्रामीणों के आर्थिक जरूरतों को पूरा करने के साथ ही उनके पोषण जरुरतों को भी पूरा करेगा। हजारीबाग जिला में योजना का उद्घाटन उप विकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा के द्वारा कटकमसांडी प्रखण्ड के लूपुंग पंचायत के असधीर गांव में आयोजित किया गया। इस मौके पर ग्रामीणों ने उप विकास आयुक्त का स्वागत झारखण्ड के पारंपरिक नृत्य के जरिये किया। पालक, मेथी, बीन, लाल साग सहित मूली मौसमी साग सब्जियों पोषणयुक्त बीजों का बीजारोपण किया गया। इस मौके पर स्थानीय ग्रामीणों ने बढ़ चढ़ कर भाग लिया। इस कार्यक्रम का संपादन जेएसएलपीएस तथा दीदी बाड़ी योजना के सहयोग से किया गया। दीदी बाड़ी योजना के कार्यों में जेएसपीएस की भूमिका रहेगी। इस मौके पर उप विकास आयुक्त ने कहा कि, लाभूको को अपने घर में ही अपनी जमीनों पर पोषण युक्त मौसमी फल सब्जियां आदि का उत्पादन कर जीविकोपार्जन के साथ कुपोषण की समस्या से निजात दिलाने में मदद मिलेगी। कार्यक्रम के दौरान उप विकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा, बीडीओ रेणु कुमार, पंचायत सचिव, बीपीएम जेएसएलपीएस, रोजगार सेवक सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।