विश्व मृदा दिवस 2020 संपन्न,कृषि विज्ञान केंद्र में किसानो को दी गयी मृदा संबंधी जानकारी

शेयर करें

हज़ारीबाग :- 5 दिसंबर शनिवार को अंतरराष्ट्रीय मृदा वर्ष 2020 के अवसर पर हॉली क्रॉस कृषि विज्ञान केंद्र,हजारीबाग में विश्व मृदा दिवस मनाया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में सरिता देवी प्रमुख इचाक,पिंकी देवी मुखिया मंडई एवं क्षेत्रीय पर्यवेक्षक मृदा संरक्षण सर्वे ऑफिस हजारीबाग भी उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्वलित कर किया गया एवं इस कार्यक्रम में हजारीबाग जिले के विभिन्न प्रखंडों से 110 किसानों ने भाग लिया| हॉली क्रॉस कृषि विज्ञान केंद्र की निर्देशिका सिस्टर सरिता ने अपने स्वागत भाषण से अतिथियों एवं उपस्थित किसानों का स्वागत किया। उन्होंने किसानों को मृदा दिवस के महत्व के बारे में बताया एवं मिट्टी की जांच पर बल दिया। वरीय वैज्ञानिक अध्यक्ष केवीके हजारीबाग डॉ आरके सिंह ने होली क्रॉस कृषि विज्ञान केंद्र की कार्य विधियों एवं मृदा को स्वस्थ को बनाए रखने पर विशेष जोर दिया उन्होंने मृदा जांच के आधार पर समन्वित पोषक प्रबंधन तकनीक अपनाने की सलाह किसानों को दी वही किसानों को मृदा एवं उसके विशेषता पर विशेष जानकारी दी। अभिभाषण के दौरान उन्होंने झारखंड में पाए जाने वाली मिट्टी के प्रकार की जानकारी किसानों को दी। इसी क्रम में मृदा वैज्ञानिक मनोज कुमार सिंह ने मिट्टी का नमूना लेने की विधि एवं मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन तकनीक पर विशेष जोर देते हुए किसानों को अधिक उत्पादन एवं मृदा को लंबे समय तक उपजाऊ बनाए रखने की तकनीक की विस्तृत जानकारी दी। इस दौरान उद्यान वैज्ञानिक डॉ प्रशांत वर्मा हॉली क्रॉस केवीके हजारीबाग में बागवानी एवं सब्जी फसलों के लिए मृदा के महत्व तथा नर्सरी तैयार करने के लिए किस प्रकार की मृदा सबसे उत्तम होती है उसकी विस्तृत जानकारी दी। सस्य वैज्ञानिक डॉ सत्येंद्र यादव वैज्ञानिक होली क्रॉस केवीके ने रबी,दलहन एवं तिलहन फसलों के प्रमुख प्रजातियों एवं उसमें प्रयोग किए जाने वाली संतुलित उर्वरक की मात्रा की जानकारी दी। पशुपालन वैज्ञानिक डॉ संजीव कुमार सिंह होली क्रॉस ने फसल से प्राप्त होने वाले पोषक तत्वों का जानवरों पर प्रभाव के बारे में बताया। डॉ पुष्पेंद्र कुमार धाकड़ वैज्ञानिक पौध संरक्षण होली क्रॉस ने जीवाणु विषाणु एवं फफूंद जनित बीमारियों एवं मृदा पोषक तत्वों की कमी होने से होने वाली बीमारियों में अंतर की जानकारी दी। डॉ सीमा वैज्ञानिक कृषि मौसम विभाग होली क्रॉस कृषि विज्ञान केंद्र फसल उत्पादन एवं मृदा पर मौसम के प्रभाव की जानकारी दें।