बेरोजगारी का हाल..पार्किंग अटेंडेंट के जॉब में इंजीनियर

शेयर करें

चेन्नई: इंजीनियरिंग ग्रेजुएट 21 वर्षीय एस आदित्य चेन्नई में कार पार्किंग अटेंडेंट के तौर पर काम कर रहे हैं. 18 हजार रुपये हर महीने सैलरी पाने वाले आदित्य चेन्नई कॉर्पोरेशन के स्मार्ट कार पार्किंग के लिए बनाए गए ऐप के प्रमोशन के लिए काम कर रहे हैं. इस काम के लिए केवल 10वीं पास उम्मीदवारों की जरूरत है. लेकिन इसके लिए आउटसोर्स करने वाली एक कंपनी के जरिए से करीब 50 इंजीनियर और एमबीए डिग्री धारकों ने यह नौकरी कर रहे हैं. आदित्य का कहना है कि वह कम योग्य व्यक्ति के रोजगार के अवसर नहीं छीन रहे हैं. उन्होंने कहा, 'अगर एक दसवीं पास लड़का या लड़की यह नौकरी करते हैं तो वह तकनीक को समझने में 4 से 5 घंटे लेंगे. हमें केवल दो से तीन मिनट लगते हैं.' एमबीए की डिग्री धारक और 21 साल का अनुभव रखने वाले राजेश ने भी बतौर टीम लीडर ज्वाइन किया है. उन्होंने अपनी पिछली कंपनी से मिलने वाली 55 फीसदी कम सैलरी में यह नौकरी ज्वाइन की है. वह घर में अकेले कमाने वाले हैं और उनका एक छह साल का बच्चा भी है. राजेश का कहना है, 'एमबीए या बीई करने के बाद नौकरियां नहीं हैं. अगर हमें 10 हजार से भी कम की नौकरी मिलती है तो लोग काम करने के लिए तैयार हैं.'